एलोन मस्क सफलता की कहानी हिंदी में - Jankari Dunia

एलोन मस्क सफलता की कहानी हिंदी में | Elon Musk Success Story In Hindi

एलोन मस्क सफलता की कहानी हिंदी में | Elon Musk Success Story In Hindi
Elon Musk


   खुद वो बदलाव बनिए जो दुनिया में आप देखना चाहते हैं यह वाक्य आज से सालों पहले महात्मा गांधी ने कहे थे और इन वाक्य  को अगर किसी व्यक्ति ने हकीकत में बदला है तो वह है एलोन मस्क,एलोन मस्क अफ़्रीकी मुल्क के इनवेस्टर, इंजीनियर और बिजनेसमैन है और आज के समय में भी पूरी दुनिया में अपनी दूरगामी सोच की वजह से काफी प्रसिद्धि पा चुके हैं उनकी सोच हमेशा से ही इंसानों की परेशानियों को दूर करने पर केंद्रित रही है और इसी सोच की वजह से मैं पूरी दुनिया भर में जीनियस एंटरप्रिनिअर के नाम से भी जाने जाते एलोन आज के समय में फ़ोर्ब्स के अनुसार दुनिया के इकिस्वे सबसे धनी व्यक्ति है लेकिन दोस्तो  कोई भी व्यक्ति जन्म से अमीर नहीं होता इस पायदान पर पहुंचने के लिए उसे ना जाने कितनी मेहनत करनी पड़ती है ठीक उसी तरह ही एलोन मस्क ने भी बचपन से ही काफी मेहनत की और बहोत सारे संघर्षों के बाद आज लाखों युवाओं के लिए इंस्पिरेशन बन चुके हैं तो चलिए दोस्तों एलोन मस्क  के मोटिवेशनल लाइफ जर्नी को हम शुरू से जानते हैं |

    तो दोस्तों कहानी की शुरुआत होती है आज से करीब 46 साल पहले से जब साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया शहर में 28 जून 1971 को एलोन मस्क का जन्म हुआ उनके पिता का नाम एरोल मस्क था और वे  एक इंजीनियर होने के साथ-साथ एक पायलट भी थे और उनकी मां का नाम मेंही मस्क था  जो कि एक मॉडल और डाइटिशियन थी एलोन मस्क बचपन से ही पढ़ने में काफी दिलचस्पी रखते थे और हमेशा ही किताबों के आसपास देखे जाते थे और सिर्फ 10 साल की उम्र में उनको कंप्यूटर से काफी इंट्रेस्ट हो गया था और सिर्फ 12 साल की छोटी सी उम्र में उन्होंने कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सीकर एक ब्लास्टर नाम का गेम बना डाला जिसे कि उन्होंने $500 की कीमत पर PC एंड ऑफिस टेक्नोलॉजी नाम की एक कंपनी को बेच  दिया और यहीं से एलोन मस्क की  प्रतिभा साफ साफ झलकती लगी थी वह बचपन में आयजक,असीमो की किताबें पढ़ा करते थे और शायद यही से उनको टेक्नोलॉजी के प्रति इतना लगाव हो गया बचपन में एलोन मस्क को स्कूल के दिनों में बहुत परेशान किया जाता था एक बार तो कुछ लड़कों के ग्रुप में उनको सीढ़ियों से धक्का दे दिया और उनको तब तक मारा जब तक की वह बेहोश नहीं होगये  इसके लिए उन्हें कई दिनों तक हॉस्पिटल में भर्ती होना पड़ा था लेकिन दोस्तों एलोन मस्क को भले ही बचपन में इतनी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा पर आगे चलकर उन्होंने मानवता के हित में काफी सराहनीय काम किया 17 साल की उम्र में एलोन मस्क ने क्वीन यूनिवर्सिटी से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई शुरू की और वहां पर 2 साल पढ़ने के बाद मैं यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया ट्रांसफर हो गए जहां उन्होंने 1992 में फिजिक्स में बैचलर ऑफ साइंस डिग्री ली 1995 में एलोन मस्क PhD करने के लिए कैलिफोर्निया शिफ्ट हो गए लेकिन वहां पर रिसर्च शुरू करने की मात्र 2 दिन के अंदर ही उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी और एक सफल व्यवसाई बनने के लिए अपने कदम बड़ा लिए 1995 में अपने भाई के साथ एलोन मस्क ने  जीप टू नाम की एक सॉफ्टवेयर कंपनी शुरू की जिसे कि आगे चलकर कॉन्पैक्ट ने 307 मिलियन डॉलर जैसी बड़ी रकम देकर खरीद ली और इसके बिकने के बाद जिप टू में अपने साथ परसेंट के शेयर से एलोन मस्क को कुल 22 मिलियन डॉलर मिले और फिर 1999 में इन पैसों में से 10 मिलियन डॉलर का इन्वेस्ट करते हुए एलोन मस्क ने  x.com की स्थापना की जो कि एक फाइनेंसियल सर्विस देने वाली कंपनी थी और एक साल बाद यह कंपनी कॉन्फ़िनिटी  नाम की एक कंपनी के साथ जुड़ गई और दोस्तों बता दो कि कॉन्फ़िनिटी कंपनी की एक मनी ट्रांसफर सर्विस हुआ करती थी जिसे कि अब हम पे पाल के नाम से जानते हैं और तभी से लेकर अब तक पे पाल  मनी ट्रांसफर का काफी लोकप्रिय माध्यम रहा है 2002 मे  ebay ने पे पाल को 1.5 मिलियन डॉलर की अविश्वसनीय रकम देकर खरीद लिया और इस डील के बाद एलोन मस्क को 165 मिलियन डॉलर मिले और दोस्तो बता दू  कि एलोन मस्क पे पाल के सबसे बड़े शेयर होल्डर थे  और फिर 2002 में अपने जमा किए हुए पैसों में से 100 मिलियन डॉलर की बड़ी रकम के साथ एलोन मस्क ने  स्पेस एक्स नाम की एक कंपनी की स्थापना की और यह कंपनी आज के समय में स्पेस लॉन्चिंग व्हीकल बनाने में कार्यरत है और एलोन मस्क ने एक
एलोन मस्क सफलता की कहानी हिंदी में | Elon Musk Success Story In Hindi
SpaceX, California, United States
इंटरव्यू में बताया कि 2030 तक इंसानों को मंगल ग्रह पर बसाने की पूरी तैयारी में है 2003 में एलोन मस्क ने  दो लोगों के साथ मिलकर टेस्ला इन नाम की एक और कंपनी की शुरुआत की और 2008 के बाद से ही वे टेस्ला के सीईओ के तौर पर काम कर रहे हैं और जो शायद आपको तो पता ही होगा कि टेस्ला की खासियत इसकी लाजवाब इलेक्ट्रिक कार और फिर 2006 में एलोन मस्क ने अपने कजन की कंपनी सोलर सिटी को फाइनेंसियल केपिटल मुहैया करवा कर इसे शुरू करने में अहम रोल अदा किया और फिर 2013 में सोलर सिटी यूनाइटेड स्टेट में सोलर पावर सिस्टम मुहैया कराने वाली दूसरी सबसे बड़ी कंपनी बन गयी है और फिर आगे चलकर 2016 में टेस्ला सोलर  सिटी को अपने अंतर्गत लेलिया और आज के समय में सोलर सिटी पूरी तरह से टेस्ला लाइन के अंतर्गत ही काम करती है दिसंबर 2015 में एलोन मस्क ने  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिजल्ट कंपनी की शुरुआत की जिसका नाम ओपन ए आय  रखा गया जिसके तहत वह मानवता के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को फायदेमंद और सुरक्षित बनाना चाहते हैं 2016 में एलोन मस्क न्यू रनिंग नाम की एक कंपनी के को-फाउंडर बने और यह कंपनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ह्यूमन ब्रेन को जोड़ने के काम में लगी हुई है तो कुल मिला जुला कर दो तो देखा ना आपने एलोन मस्क किस तरह से अलग-अलग तरह के बहुत सारे कामों में लगे हुए हैं और इस बात से उन्होंने साबित कर दिया है कि उनके जैसा सोच रखने वाले व्यक्ति हैं कुछ बड़ा कर पाते हैं वैसे तो आज मैं एक जानी मानी हस्ती हैं और दुनिया भर में नाम कमा चुके हैं लेकिन उनका मानना है कि दुनिया में अभी भी बहुत सारी ऐसी चीजें हैं जिसे कि बेहतर करके मानव के हितों में काम किया जा सकता है उम्मीद है कि आप को एलोन मस्क की यह लाइफ स्टोरी जरूर पसंद आई होगी


हमारे इस ब्लॉग को पढ़ने  का धन्यवाद अगर यह आपको पसंद आया हो तो इसे शेयर करें और इस पर कमेंट करके हमें बताएं इसके साथ ही हमारे अन्य ब्लॉग को जरूर देखें हमारे ब्लॉग Jankari Dunia को सब्सक्राइब करना ना भूले
धन्यवाद



0 comments: